अनुपमा 16 जुलाई 2023 लिखित एपिसोड अपडेट:

अनुपमा 16 जुलाई 2023 लिखित एपिसोड अपडेट, TellyWritten.in पर लिखित अपडेट

अनुपमा की अप्रत्याशित वापसी

छोटी अनु/सीए कहती है वनराज को कि वो बिना किसी को बताए अनाथालय में आई क्योंकि उसने सोचा कि मम्मी उसको हमेशा के लिए छोड़ गई है, लेकिन मम्मी वहां आ गई और उसे मिल गई। अनुज अनुपमा को सपोर्ट करता है और उसे साथ ले जाता है। अनुपमा एक कविता पढ़ती है जिसमें वो कहती है कि उसके सपनों के बदले उसके परिवार और माँ होने का अधिकार है और उसको उनके लिए वापस आना पड़ा। वो एक खिड़की की तरफ देखती है।

अनुज पूछता है वो किसको देख रही है। अनुपमा भगवान से दुआ करती है मैया की मुक्ति के लिए लंबी बात-चीत के साथ। अनुज कहता है कि वहां कोई नहीं है। बरखा परेशान हो जाती है अनुपमा और सीए की तस्वीर देखकर अनुपमा वापस आ गई है। गाड़ी में, अनुज सोचता है कि वो क्यों वापस आई, गुरुमाँ ने उसे कैसे जाने दिया, अब क्या परिनाम होंगे। एफएम पर मालती देवी का इंटरव्यू चल रहा है। अनुपमा गुरुमाँ को फ़ोन करती है।

गुरुमाँ का क्रोध और अनुपमा की अवज्ञा

गुरुमा गुस्से से नाचती है, अनुपमा के वादे को याद करके कि वो हमेशा उसकी शिष्य बनेगी और कोई ऐसा काम नहीं करेगी जो उसको पछतावा दिलाये, अनुपमा ने फ्लाइट में तमाशा मचाया और इसे बहार आ गई। वो सोचती है कि उसे बहुत बार समझा जाता है, लेकिन अनुपमा ने वो सब किया जो उसे नहीं करना चाहिए था; गुरु/शिक्षक का आशीर्वाद जिंदगी को सफल बना सकता है और श्राप उसे बर्बाद कर सकता है।

अनुपमा सोचती है कि गुरु भगवान हैं और उसने गुरुमाँ की आज्ञा का उल्लंघन किया है। बरखा अंकुश को बताती है कि वो ये नहीं समझ सकती कि अनुपमा ने अपनी बेटी के लिए इतना बड़ा भूल किया है। अंकुश कहता है कि वो एक माँ के भावनाओं को समझ नहीं सकता।

बरखा शाह परिवार को देखकर बेकार लोग ड्रामा करने आए हैं। तोशु कहता है कि उन्हें वनराज का फ़ोन आया था और वो यहाँ आये हैं। लीला सोचती है कि वहां क्या हुआ होगा। किंजल मालती देवी की कार्यवाही से डर रही है। गुरुमाँ नकुल को संदेश देती हैं कि वो पता करे कि अनुपमा कहाँ है और उसकी एक मीटिंग फिक्स करें क्योंकि उससे सीधी बात करनी है।

अनुपमा की वापसी और वादे

अनुपमा अनुज, वनराज और सीए के साथ घर वापस आते हैं। काव्या सीए से पूछती है कि उसने घर से बिना बताए क्यों छोड़ दिया, सब लोग परेशान हो गए। सीए माफ़ी मांगती है और कहती है कि उन्हें परेशान करने के लिए माफ़ी चाहती है। काव्य कहती है कि सब ठीक है और उसे जाकर थोड़ा आराम मिलता है। सीए अनुपमा से पूछती है कि क्या वो उसे फिर से अकेला छोड़ देगी। अनुपमा उससे वादा करती है कि वो कभी भी बिना उसे बताए कहीं नहीं जाएगी। लीला अनुपमा से बात करना चाहती है।

अनुपमा उसे रोक देती है, मैया की तस्वीर की तरफ चलती है और उसे कहती है कि वो सीए के लिए चिंता नहीं करे, क्योंकि उसकी यशोदा मैया वापस आ गई है। वो दिए कि आग पर कसम खाके वादा करती है कि वो हमेशा सीए के साथ रहेगी और उसे कभी अकेला नहीं छोड़ेगी। वो सबको बताती है कि उनके पास बहुत सारे सवाल हैं, लेकिन वो कुछ समय के लिए अकेली रहना चाहती है। हसमुख कहता है कि वो ऐसा ही करे। अनुपमा चली जाती है.

अनुपमा की वापसी और मालती देवी की धमकी

बरखा और दूसरे लोग वनराज और अनुज से पूछते हैं कि अनुपमा वापस कैसे आ गई और उसके आश्रम तक कैसे पहुंच गई। अनुज कहता है कि उन्हें सच में पता नहीं, उसने मालती देवी को कॉल किया था पर उसने कॉल नहीं उठाई। तोशु कहता है कि गुरुमा गुस्से में होगी और अनुपमा के खिलाफ कानून कार्यवाई करने की सोच रही होगी। हसमुख कहता है कि गुरुमां मां के जज़्बे समझेगी।

लीला कहती है कि मालती देवी बहुत ख़तरनाक है, और जैसे वो किसी को छोड़ नहीं देती अगर उनकी कला को कोई नुक्सान पहुँचता है, वैसे ही मालती देवी भी किसी को छोड़ नहीं देगी अगर उनकी कला को कोई नुक्सान पहुँचता है। गुरुमां अपने और अनुपमा के साथ जुड़े सभी समान को जला देती हैं। अनुपमा अपने गुरुमाँ को किये गये वादे और हाल ही के घाटनों को याद करती है और कहती है “सुर्री सुर्री सुर्री / सॉरी…”

अनुपमा की वापसी और वनराज का पछतावा

लीला अनुज से पूछती है कि क्या उसने अनुपमा को फोन किया और सीए की हालत के बारे में बताया। वनराज कहता है कि उसने नहीं किया, वरना उसको आचार्य हुआ होता अनुपमा को आश्रम में देखकर। किंजल कहती है कि अनुपमा ने अपना फैसला बदल लिया होगा, सीए के लिए चिंता करके। डिंपी कहती है शायद अनुपमा वहां जाना ही नहीं चाहती थी, क्योंकि उसने माया के कारण से वहां जाना था, और अब माया की मौत के बाद वह वापस आ गई है।

लीला पूछती है कि वो हमेशा नकारात्मक बात क्यों करती है। डिम्पी कहती है वो सच कह रही है। हसमुख उन्हें रोकता है और अनुज से कहता है कि वो अनुपमा के पास जाए। अनुज अनुपमा के पास जाता है। वो उसे गले लगाती है और रो पड़ती है। लीला को नोटिस होता है कि वनराज परेशान है। वनराज कहता है कि अनुपमा ने गलत किया है वापस आ कर, वो सीए की देखभाल तो कर सकता है उसकी बेहतर तारीख से; पिछली बार हमने उसको अपने सपनों को पूरा करने से रोका था, इस बार उसकी माँ बनने की ज़िम्मेदारी ने रोका है।

अनुपमा का बलिदान और गुरुमाँ का क्रोध

अनुज अनुपमा को पानी पिलाता है. अनुपमा कहती है कि अगर वो गई होती, तो मैया से मुंह मोड़ लेती। वो एक मां के जीवन में बच्चे का कितना महत्व होता है, और एक मां के लिए उसके बच्चे के आंसू और खुशियां उसके सपनों से भी ज्यादा महत्तवपूर्ण होती है, वो सब समझने या ना समझने वाले हो, लेकिन एक मां तो समझ सकती है। वो अपना बयान जारी रखती है। अनुज कहता है कि उसके जैसी मां के कारण से मां की इज्जत समझ में आती है, लेकिन एक मां की ख्वाहिश क्या होती है; वो गुरुमाँ के सपने को तोड़ देती है। अनुपमा को अपराधबोध महसूस होता है। गुरुमां कहती हैं कि अनुपमा ने उसको पूरी तरह से बर्बाद कर दिया है और वह अब अनुपमा को बर्बाद करने का इरादा रखती है।

अनुपमा का अगला एपिसोड: बिजली चलती है. लीला कहती है कि आँधी आने वाली है। वनराज अनुपमा से पूछता है वापस क्यों आयी। अनुपमा समझने की कोशिश करती है। गुरुमाँ प्रवेश करती है। अनुपमा उनके पांव छूटती हैं और उन्हें गुरुमां कहके छुटियां मांगती हैं। गुरुमाँ उसको थप्पड़ मारती है और कहती है कि वो ना तो उसकी गुरु है और ना ही उसकी माँ।

ये था टुडे का अनुपमा 16 जुलाई 2023 लिखित एपिसोड अपडेट किया गया…

हमें फॉलो किया ट्विटर वास्तविक समय अद्यतन के लिए.

कृपया इसे पढ़ें.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *